जमाअत इस्लामी हिन्द, मध्यप्रदेश का राज्यव्यापी दावती मुहिम का संदेश 

Activities Campaign Activities Cultural Press Release
Share Now

 

Download Press Release

भोपाल। जमाअत इस्लामी हिन्द, मध्यप्रदेश एक दस दिवसीय राष्ट्रव्यापी दावती मुहिम (अभियान) “इस्लाम सब के लिए” 4-13 मई 2018चलाने जा रही है। इस मुहिम का  केंद्रीय विषय ‘इस्लाम ही व्यक्ति के कल्याण और मुक्ति का साधन’ है। इस मुहिम का लक्ष्य मध्यप्रदेश के कम से कम एक करोड़ देशबंधुओं तक इस्लाम के संदेशों को पहुंचाया जाएगा और पूरे प्रदेश में 300 स्थानों पर मुहिम के कार्यक्रम आयोजित करने के प्रयास किये जाएंगे। इंशाअल्लाह!

मुहिम का परिचय विस्तार से चर्चा करते हुए और उददेश्य को बताते हुए अभियान के मुख्य संयोजक मिर्जा सुब्हान बेग ने कहा कि इस मुहिम का असल उद्देश्य देशबंधुओं को इस्लाम एक जीवन-व्यवस्था के रूप में परिचित कराना और साथ ही यह स्पष्ट करना है कि इस्लाम प्रत्येक व्यक्ति के कल्याण और मुक्ति का साधन है। साथ ही इस्लाम और इस्लाम के पैग़म्बर (स.अ.व.) के बारे में देशबंधुओं के भ्रमों को दूर करना। इसके साथ साथ गंभीर सामयिक समस्याओं का इस्लामी समाधान देशबंधुओं के समक्ष  पेश करना और मुसलमानों को इस बात के लिए प्रेरित करना कि वे अपनी कथनी और करनी से देशबंधुओं में इस्लाम की दावत को पहुंचायें।

इस अभियान के संयोजक ने कहा कि दुनिया के,  विशेष तौर पर हमारे देश भारत की स्थिति जिस तेज़ी के साथ खराब होती जा रही है,  हर ओर फ़साद और बिगाड़ फैलता जा रहा है। रंग, नस्ल, लिंग, क्षेत्र और धर्म के आधार पर नफ़रत और पक्षपात की आग भड़कती जा रही है,  मानवता उसी तीव्रता के साथ एक ईश्वर के मार्गदर्शन की मोहताज होती जा रही है। इस्लाम प्राकृतिक धर्म है, मानवता का धर्म है। यह व्यक्ति के कल्याण और मोक्ष के साथ मानव समाज की सभी समस्याओं का स्वाभाविक और वास्तविक समाधान प्रस्तुत करता है। साथ ही, बिना किसी रंग-नस्ल मतभेद के सभी व्यक्ति, लिंग और वर्ग के लिए भलाई, न्याय और निर्माण एवं विकास का गारंटर है। इस्लामी शिक्षा के अनुसार सभी मानव एक अल्लाह के बंदे और एक आदम की औलाद होने के नाते आपस में भाई-भाई हैं, और इसीलिए इस्लाम के अनुयायी अर्थात मुसलमान इस बात के लिए बाध्य हैं कि वे अपने सभी ग़ैरमुस्लिम भाइयों (देशबंधुओं) तक इस्लाम की शिक्षाओं को पहुंचाएं ताकि उन्हें इस्लाम के बारे में अगर कोई भ्रम है तो दूर हो जाए। साथ ही देश में शांति का वातावरण बने। रंग, नस्ल, लिंग, भाषा और क्षेत्र के आधार पर नफ़रत और पक्षपात का अंत हो। सभी राजनीतिक और सामाजिक समस्याओं का समाधान हो सके और हर व्यक्ति को सांसारिक और मृत्यु पश्चात जीवन में कल्याण और मोक्ष प्राप्त हो।

मुहिम संयोजक ने कहा कि आज मानवता जिन समस्याओं का शिकार है उसका एकमात्र कारण असत्य विचार और असत्य व्यवस्थायें हैं। इस्लाम की न्यायायिक व्यवस्था और वरदान की अस्वीकृति संसार और परलोक दोनों में नुकसान का कारण है। आज पूरा विश्व खसकर हमारा देश जिन गंभीर समस्याओं से जूझ रहा है मसलन बाल यौन शोषण, भ्रूण हत्या, महिलाओं का शोषण, दहेज लेन-देन, विधवाओं से संबंधित समस्याएं, सामाजिक असमानता, मानवाधिकार का हनन, मज़दूर और मझोले कारोबारियों का शोषण, बाल मज़दूरी, जमाख़ोरी, कालबाज़ारी, रिष्वतख़ोरी, मद्यपान, बलात्कार, अश्लीलता, नग्नता, ज़ुल्म और अन्याय, भ्रष्टाचार, हत्यायें, सट्टेबाजी, दलित, पिछड़े, आदिवासियों और अल्पसंख्यकों पर अत्याचार, आर्थिक अस्थिरता और गरीबी जैसी सभी समस्याओं का समाधान इस्लाम में मौजूद है।
उन्होंनें कहा कि इन्ही उददेश्यो के तहत जमातें इस्लामी हिंद मध्य प्रदेश उपरोक्त अभियान चलाने जा रही है हम सभी देश बंधुओं ख़ास तौर पर धार्मिक ओर सामाजिक रहनुमाओ ,बुद्धिजीवी,लेखकोंओर पत्रकारों को आमंत्रित करते हैं कि वे इस्लाम ओर इस्लामी शिक्षाओं को कोरे मन से सुने पढ़े और चिंतन करें।

द्वारा जारी 
मीडिया प्रभारी
जमाअत इस्लामी हिन्द
मध्यप्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *